Karan Tatpurush Samas : करण तत्पुरुष समास की परिभाषा इसके भेद और इसके उदाहरण

करण तत्पुरुष समास (Karan Tatpurush Samas) : परिभाषा, भेद और उदाहरण | Karan Tatpurush Samas in Hindi – इस आर्टिकल में हम करण तत्पुरुष समास, करण तत्पुरुष समास किसे कहते कहते हैं, करण तत्पुरुष समास की परिभाषा, करण तत्पुरुष समास के भेद और उनके भेदों को उदाहरण के माध्यम से पढ़ेंगे।  इस टॉपिक से सभी परीक्षाओं में प्रश्न पूछे जाते है।  हम यहां पर करण तत्पुरुष समास ( Karan Tatpurush Samas) के सभी भेदों/प्रकार के बारे में सम्पूर्ण जानकारी लेके आए है। hindi में करण तत्पुरुष समास ( Karan Tatpurush Samas) से संबंधित बहुत सारे प्रश्न प्रतियोगी परीक्षाओं और राज्य एवं केंद्र स्तरीय बोर्ड की सभी परीक्षाओं में यहां से questions पूछे जाते है।  Karan Tatpurush Samas in Hindi के बारे में उदाहरणों सहित इस पोस्ट में सम्पूर्ण जानकारी दी गई है।  तो चलिए शुरू करते है –

करण तत्पुरुष समास (Karan Tatpurush Samas)

करण तत्पुरुष समास  जिस तत्पुरुष समास में करण कारक की विभक्ति का लोप हो जाता है।
इसमें करण कारक चिन्ह ‘से / के द्वारा ‘ का लोप हो जाता है। 

करण तत्पुरुष समास के उदाहरण
तुलसीकृत – तुलसी के द्वारा किया हुआ 
अकालपीड़ित – अकाल से पीड़ित 
अधिकारोन्मत – अधिकार से उन्मत 
अभावग्रस्त – आभाव से ग्रस्त 
जलावृत – जल से आवृत 
मनमानी – मन से मानी
मदांध – मद से अंध 
मुँह माँगा – मुँह से माँगा 
गुणयुक्त – गुणों से युक्त 
कष्ट साध्य – कष्ट से साध्य 
अकाल पीड़ित – अकाल से पीड़ित 
नीतियुक्त – नीति से युक्त 
रोगग्रस्त – रोग से ग्रस्त 
गुणयुक्त – गुणों से युक्त 
मनचाहा – मन से चाहा हुआ 
रसभरी – रस से भरी 
मनमाना – मन से माना
रस सिक्त – रस से सिक्त 
दुग्ध निर्मित – दुग्ध से निर्मित 
दोषपूर्ण – दोष से पूर्ण 
धर्मयुक्त – धर्म से युक्त 
धर्मांध – धर्म से अंध 
नरकभय – नरक से भय 
प्रकाशयुक्त – प्रकाश से युक्त 
प्रतीक्षातुर – प्रतीक्षा से आतुर 
प्रमाणसिद्ध – प्रमाण से सिद्ध 
प्रश्नाकुल – प्रश्न से आकुल 
प्रेमोन्मत – प्रेम से उन्मत 
फलाच्छादित – फल से आच्छादित 
बिहरिरचित – बिहारी द्वारा रचित 
बैलगाड़ी – बैल से चलने वाली गाड़ी 
भयभीत – भय से भीत 
भयाक्रांत – भय से आक्रांत 
भावाभिभूत – भाव से अभिभूत 
भावाविष्ट – भाव से आविष्ट 
भुखमरा – भूख से मरने वाला 
मीनाकारी – मीना से किया गया कार्य 
रेखांकित – रेखा के द्वारा अंकित 
स्वचिंतन –  स्वयं के द्वारा चिंतन 
श्रमजीवी – श्रम से जीवित रहने वाला 
श्रमसाध्य – श्रम से साध्य 
स्नेहाविष्ट – स्नेह से आविष्ट 
स्वर्णहार – स्वर्ण से बना हार
स्वार्थान्ध – स्वार्थ से अँधा 
शिरोधार्य – शिर से धारण करने वाला
प्रेमाविष्ट – प्रेम से आविष्ट 
माघ प्रणीत – माघ के द्वारा प्रणीत ( रचित ) 
ईश्वरदत्त – ईश्वर के द्वारा दिया हुआ 
आँखों देखा – आँखों के द्वारा देखा हुआ 
वाग्युद्ध – वाक् के द्वारा युद्ध 
रेल यात्रा –  रेल के द्वारा यात्रा 
शल्य चिकित्सा – शल्य के द्वारा चिकित्सा 
डंडीमार – डंडी के द्वारा मारने वाला  
विधिनिर्मित – विधि के द्वारा निर्मित 
तर्क सिद्ध – तर्क के द्वारा सिद्ध 
मुंहमांगा – मुंह से (द्वारा) मांगा
जन्मांध – जन्म से अंधा
प्रशिक्षण – विशेष शिक्षण
रेखांकित – रेखा से लिखित
तुलसीकृत – तुलसी द्वारा कृत

दोस्तो हमने इस आर्टिकल में Karan in Hindi के साथ – साथ Karan kise kahate hain, Karan ki Paribhasha, Karan ke bhed के बारे में पढ़ा। हमे उम्मीद है आपको यह जानकारी पसंद आई होगी। आपको यहां Hindi Grammar के सभी टॉपिक उपलब्ध करवाए गए। जिनको पढ़कर आप हिंदी में अच्छी पकड़ बना सकते है।

Share your love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *