Apadan Tatpurush Samas | अपादान तत्पुरुष समास की परिभाषा, भेद और इसके उदाहरण

अपादान तत्पुरुष समास (Apadan Tatpurush Samas) : परिभाषा, भेद और उदाहरण | Apadan Tatpurush Samas in Hindi – इस आर्टिकल में हम अपादान तत्पुरुष समास, अपादान तत्पुरुष समास किसे कहते कहते हैं, अपादान तत्पुरुष समास की परिभाषा, अपादान तत्पुरुष समास के भेद और उनके भेदों को उदाहरण के माध्यम से पढ़ेंगे।  इस टॉपिक से सभी परीक्षाओं में प्रश्न पूछे जाते है।  हम यहां पर अपादान तत्पुरुष समास ( Apadan Tatpurush Samas) के सभी भेदों/प्रकार के बारे में सम्पूर्ण जानकारी लेके आए है। hindi में अपादान तत्पुरुष समास ( Apadan Tatpurush Samas) से संबंधित बहुत सारे प्रश्न प्रतियोगी परीक्षाओं और राज्य एवं केंद्र स्तरीय बोर्ड की सभी परीक्षाओं में यहां से questions पूछे जाते है।  Apadan Tatpurush Samas in Hindi के बारे में उदाहरणों सहित इस पोस्ट में सम्पूर्ण जानकारी दी गई है।  तो चलिए शुरू करते है –

अपादान तत्पुरुष – जिस तत्पुरुष समास में अपादान कारक की विभक्ति का लोप होता है।
इसमें अपादान करक चिन्ह ‘से ( अलग होने के अर्थ में ) ‘ का लोप हो जाता है।

अपादान तत्पुरुष समास के उदाहरण
नेत्रहीन – नेत्रों से हीन 
भाषाहीन – भाषा से हीन
कर्तव्य विमुख – कर्तव्य से विमुख
जन्मांध  – जन्म से अँधा
धर्मभ्रष्ट – धर्म से भ्रष्ट 
ह्रदयहीन – ह्रदय से हीन 
फल रहित  – फल से रहित
वीर विहीन – वीरो से विहीन  
गुणातीत – गुणों से अतीत 
जात बाहर – जाति से बाहर
पद दलित – पद से दलित
अवसरवंचित – अवसर से वंचित 
आकाशपतित – आकाश से पतित 
आशातीत – आशा से अतीत ( अधिक ) 
इन्द्रियातीत – इन्द्रियों से अतीत 
ईसापूर्व –  ईसा से पूर्व
ऋणमुक्त – ऋण से मुक्त 
कर्तव्यच्युत – कर्तव्य से च्युत 
कर्तव्यविमुख – कर्तव्य से विमुख 
कर्मभिन्न –  कर्म से भिन्न 
कामचोर – काम से जी चुराने वाला                                             
कार्यमुक्त – कार्य से मुक्त 
कालातीत – काल से अतीत 
क्रमागत – क्रम से आगत 
गर्वशून्य – गर्व से शून्य 
गुणरहित – गन से रहित 
गुणातीत – गुणों से अतीत 
जन्मरोगी – जन्म से रोगी 
जन्मोत्तर – जन्म से उत्तर 
दूरागत –  दूर से आगत 
देश निकाला – देश से निकाला 
दोषमुक्त  – दोष से मुक्त 
धर्मविमुख –  धर्म से विमुख 
धर्मविरत – धर्म से विरत 
पदमुक्त – पद से मुक्त 
बंधनमुक्त – बंधन से मुक्त 
बहिरागत –  बाहर से आगत 
भाग्यहीन – भाग्य से हिन् 
पापमुक्त – पाप से मुक्त 
राजद्रोह – राज्य से द्रोह 
लाभरहित – लाभ से रहित 
लोकभय – लोक से भय 
लोकेत्तर – लोक से इतर
विवाहेतर –  विवाह से इतर 
शब्दातीत – शब्द से अतीत 
शोभाहीन –  शोभा से हीन
हतश्री –  श्री से हत
स्वर्गपतित –  स्वर्ग से पतित 
सेवानिवृत – सेवा से निवृत 
गुणहीन – गुणों से हीन
आशातीत – आशा से अतीत
देश-निकाला – देश से निकाला
धर्मभष्ट -धर्म से भ्रष्ट
धर्मविमुख – धर्म से विमुख
अपराधमुक्त -अपराध से मुक्त

दोस्तो हमने इस आर्टिकल में Apadan Tatpurush Samas in Hindi के साथ – साथ Apadan Tatpurush Samas kise kahate hain, Apadan Tatpurush Samas ki Paribhasha, Apadan Tatpurush Samas ke bhed के बारे में पढ़ा। हमे उम्मीद है आपको यह जानकारी पसंद आई होगी। आपको यहां Hindi Grammar के सभी टॉपिक उपलब्ध करवाए गए। जिनको पढ़कर आप हिंदी में अच्छी पकड़ बना सकते है।

Leave a Reply